BREAKING NEWS

Press Release

Yoga is the Mother of all Exercises: Vice President 

NNWN/ New Delhi, 2017-10-10

Vice President M. Venkaiah Naidu said that Yoga is the Mother of all exercises. He was addressing the inaugural session of the 3rd International Yoga Conference in the Capital on Tuesday.  Naidu  said that Yoga goes beyond the physical exercises and connects the body with thought processes. He further said that Yoga has nothing to do with religion, as some people unfortunately attribute religious overtones to this ancient scientific system. It is a science of well being that needs to be studied and practiced just as any other medical system, he added.

 

Hindi Section

NNWN / New Delhi,2017-06-28

कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग ने स्वच्छता पखवाड़ा के अंतर्गत आज यहां राममनोहर लोहिया अस्पताल के परिसर में स्वच्छता अभियान में हिस्सा लिया। विभाग के उप सचिव श्री सुरेश कुमार और अपर सचिव श्री राजेश्वर लाल के नेतृत्व में करीब 50 कर्मियों ने अस्पताल के प्रशासनिक खंड से जुड़े पार्क में स्वच्छता अभियान में हिस्सा लिया।

स्वच्छता पखवाड़ा के अंतर्गत डीओपीटी विभिन्न गतिविधियां चला रहा है। पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय द्वारा स्वच्छता पखवाड़ा 16 जून से 30 जून 2017 तक चलाया जा रहा है।

स्वच्छता अभियान के दौरान कचरे के 9 पैकेट एकत्रित किये गये इनमें अधिकतर पेड़ों के पत्ते और प्राकृतिक तरीके से सड़ने वाला सामान था। इसके अलावा कुछ मिला जुला कचरा भी एकत्र किया गया। कचरे के सभी पैकेट अस्पताल प्रशासन के प्रभारी को खाद बनाने सहित उसके उचित इस्तेमाल/निपटारे के लिए सौंप दिये गये।

 

NNWN / Shimla, 2017-05-12
 
केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्री जे .पी. नड्डा ने आज मंडी में देश के सार्वभौमिक टीकाकरण कार्यक्रम (यूआईपी) में न्‍यूमोकोकल कंजुगेट टीका (पीसीवी) लॉंच करने की घोषणा के अवसर पर कहा कि ‘टीका से बचाव वाली बीमारियों से देश में किसी भी बच्‍चे की मृत्‍यु नहीं होनी चाहिए‘ यही हमारी सरकार का लक्ष्‍य एवं प्रतिबद्धता है। उन्‍होंने कहा कि हम शिशु मृत्‍यु दर को कम करने एवं अपने शिशुओं को स्‍वस्‍थ भविष्‍य उपलब्‍ध कराने के प्रति‍ वचनबद्ध हैं। भारत के टीकाकरण कार्यक्रम में इसे एक ऐतिहासिक क्षण तथा एक उदाहरण देने योग्‍य कदम बताते हुए केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि सरकार बच्‍चों में मृत्‍यु दर एवं रुग्णता दर को कम करने के प्रति प्रतिबद्ध है। उन्‍होंने कहा कि रुटीन टीकाकरण को मजबूत बनाना भारत के बच्‍चों में एक अनिवार्य निवेश है तथा यह देश का स्‍वस्‍थ भविष्‍य सुनिश्चित करेगा।
 
पीसीवी बच्‍चों को निमोनिया एवं मेनिनजाइटिस जैसी न्‍यूमोकोकल बीमारियों के प्रचंड रूपों से सुरक्षा प्रदान करती है। वर्तमान में यह टीका पहले चरण में हिमाचल प्रदेश एवं बिहार एवं उत्‍तर प्रदेश के कुछ हिस्‍सों के लगभग 21 लाख बच्‍चों को दिया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  की टीका से बचाव वाली बीमारियों से बच्‍चों की जान बचाने की प्रतिबद्धता को दुहराते हुए नड्डा ने कहा कि सरकार ने कुल टीकाकरण की दिशा में उल्‍लेखनीय कदम उठाए हैं।  मिशन इंद्रधनुष के तहत अभी तक 2.6 करोड़ से अधिक लाभार्थियों का टीकाकरण कराया जा चुका है।
 
स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने यह भी कहा कि ये सभी टीके निजी क्षेत्र में न केवल भारत में बल्कि दुनिया भर में कई वर्षों से उपलब्‍ध थे। श्री नड्डा ने कहा कि ‘निजी क्षेत्र में ये टीके केवल समृद्ध वर्ग के लिए ही सुलभ थे, यूआईपी के तहत उन्‍हें उपलब्‍ध कराने के जरिये सरकार  निर्धन एवं वंचित वर्गों के लिए भी समान रूप से उनकी उपलब्‍धता सुनिश्चित कर रही है।’ 

Submit to DeliciousSubmit to DiggSubmit to FacebookSubmit to Google PlusSubmit to StumbleuponSubmit to TechnoratiSubmit to TwitterSubmit to LinkedIn

NNWN / Sriharikota, 2017-0-05

ISRO has got yet another success when it successfully  launched the South Asian telecommunication satellite on board the rocket GSAT-F09 from Sriharikota off the Andhra Pradesh coast at 4.57 pm on Friday. With this, India and six other countries in the sub-continuent have joined hands together to take benefits of the telecommunication satellite to know weather or rains etc in advance.

Speaking on the occasion, Prime Minister Narendra Modi said,  "I congratulate the team of scientists who worked hard for the successful launch of South Asia Satellite. We are very proud of them." "Successful launch of South Asian Satellite is a historic moment. It opens up new horizons of engagement," he added.

<blockquote class="twitter-tweet" data-lang="en"><p lang="en" dir="ltr">Today is a historic day for South Asia...a day without precedence: PM <a href="https://twitter.com/narendramodi">@narendramodi</a></p>&mdash; PMO India (@PMOIndia) <a href="https://twitter.com/PMOIndia/status/860465459287609345">May 5, 2017</a></blockquote>
<script async src="//platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>

The satellite, codenamed GSAT-9, is also called the South Asian Association for Regional Cooperation (SAARC) satellite. Built in three years at a cost of Rs. 235 crore, it is expected to boost the telecommunication infrastrcture in the South Asian region. Modi described the satellite as an "invaluable gift" in the April 2017 Mann Ki Baat address.

Sheikh Hasina, Prime Minister of Bangladesh also echoed Modi's views and said," Bangladesh and India has had many joint success. I am confident that this satellite will change the face of South Asia."

"This is a specially beneficial for small countries like Bhutan who does not have the technology or resources to launch such satellite," said Tshering Tobgay, the PM of Bhutan, while thanking Modi. The satellite, codenamed GSAT-9, is also called the South Asian Association for Regional Cooperation (SAARC) satellite. Built in three years at a cost of Rs. 235 crore, it is expected to boost the telecommunication infrastrcture in the South Asian region.

Modi had described the satellite as an "invaluable gift" in the April 2017 Mann Ki Baat address. "Natural resources mapping, tele medicine, the field of education, deeper IT connectivity or fostering people to people contact — this satellite will prove to be a boon in the progress of the entire region," he said.

Nepal, Bangladesh, Bhutan, Sri Lanka and Maldives have chipped in for the project as of now with Afghanistan slated to join later. Pakistan in not part of the project, which is estimated to have run up a bill of Rs. 450 crore in toto (launch and construction).

ira-ad 2x3 inch.png