Hindi Section

By Neelam Jeena/12-01-2020

हिंदी साहित्य के प्रख्यात आलोचक डॉ नामवर सिंह द्वारा गठित नारायणी साहित्य अकादमी द्वारा राष्ट्रीय पुस्तक मेले में ८ जनवरी को एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
'भारतीय भाषा में बाल साहित्य' विषय पर चर्चा एवं काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। चर्चा के अंतर्गत कई गणमान्य अतिथियों ने भाग लिया। कावय गोष्ठी में कवियों द्वारा अपने विचार कविताओं के माध्यम से रखे।

यशपाल सिंह चौहान,सविता चढ्ढा ,जनार्दन सिंह यादव,बाबा कानपुरी,डा,पुष्पा जोशी, जगदीश मीणा जी, गीतांजलि जी, चंद्रकांता सिधार, असलम बेताब, सरफराज,आरिफ गीतकार,डा, प्रियदर्शनी,मालती मिश्रा आशीष श्रीवास्तव,रीता पात्रा, सुमित भार्गव , खालिद आज़मी देवेंद्र मांझी और अनेक गणमान्य कवि ,शायर एवं साहित्यकारों नेअपनी उपस्थिति दर्ज़ करके कार्यक्रम की गरिमा  को बढ़ाया।अंत में अध्यक्ष पुष्पा सिंह विसेन ने सभी का धन्यवाद किया। इस आयोजन के दौरान सभी गणमान्य अतिथियों को अकादमी द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। 

NNW/30-08-2019

टोंको-रोंको-ठोंको क्रांतिकारी मोर्चा के द्वारा नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेत्री मेधा पाटकर जी के द्वारा नर्मदा किनारे छोटा बड़दा में जारी "नर्मदा चुनौती अनिश्चितकालीन सत्याग्रह" के समर्थन में मुख्यमंत्री कमलनाथ को कलेक्टर सीधी के माध्यम से ज्ञापन सौंपा गया। मेधा पाटकर द्वारा सत्याग्रह आंदोलन सरदार सरोवर में 192 गांव और एक नगर को बिना पुनर्वास डूबाने की केंद्र और गुजरात सरकार के विरोध में किया जा रहा है | सरदार सरोवर बांध से प्रभावित 192 गांव और एक नगर में 32,000 परिवार निवासरत है ऐसी स्थिति में बांध में 138.68 मीटर पानी भरने से 192 गांव और 1 नगर की जल हत्या होगी | आज बांध में 134 मीटर पानी भरने से कई गांव जलमग्न हो गये हैं हजारों हेक्टर जमीन डूब गई है जिनका भी सर्वोच्च अदालत के फैसले अनुसार 60 लाख रूपये मिलना बाकी है कई घरों का भू - अर्जन होना बाकी है और ऐसी स्थिति में लोगों को बिना पुनर्वास डूबाया जा रहा है। नर्मदा घाटी के सरदार सरोवर के हजारों विस्थापित परिवार, गांव अमानवीय डूब का सामना कर रहे है। गुजरात और केंद्र शासन से ही जुड़े नर्मदा नियंत्रण प्राधिकरण ने कभी न विस्थापितों के पुनर्वास की, न ही पर्यावरणीय क्षतिपूर्ति की परवाह की है न ही सत्य रिपोर्ट या शपथ पत्र पेश किये है। हजारों परिवारों का सम्पूर्ण पुनर्वास भी मध्य प्रदेश में अधूरा है, पुनर्वास स्थलों पर कानूनन सुविधाएँ नही है। ऐसे में विस्थापित अपने मूल गाँव में खेती, आजीविका डूबते देख संघर्ष कर रहे है। ऐसे में आज की मध्य प्रदेश सरकार लोगो का साथ कैसे छोड़ सकती है। मघ्यप्रदेश के मुख्य सचिव द्वारा नर्मदा नियंत्रण प्राधिकरण को भेजे गये 27.05.2019 के पत्र अनुसार 76 गांवों में 6000 परिवार डूब क्षेत्र में निवासरत है। 8500 अर्जियां तथा 2952 खेती या 60 लाख की पात्रता के लिए अर्जियाँ लंबित है। गांवो में विकल्प में अधिकार न पाये दुकानदार, छोटे उद्योग, कारीगर, केवट, कुम्हार को डूब में लाकर क्या इन गांवों की हत्या करने जैसा नही है? इसीलिए किसी भी हालत में सरदार सरोवर में 122 मी. के उपर पानी नहीं रहे, यह मध्य प्रदेश सरकार को देखना होगा। जिसके लिये नर्मदा बचाओं आंदोलन की नेता मेधा पाटकर द्वारा अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल की जा रही है। ज्ञापन पत्र सौप कर कमलनाथ सरकार से अपेक्षा की गई है कि तुरंत संवेदनशील युध्द स्तरीय, न्यायपूर्ण निर्णय और कार्यवाही करे।

Disability

 NNWN/ New Delhi, 2018-06-18

The Indian Army is observing the year 2018 as the year of Disabled Soldiers in line of duty. The decision comes in the wake of increasing attack on soldiers on duty, leaving many disabled, partially or completely. Though there are no figures available to support the…

Read more

NNWN/ New Delhi,2018-05-05

A ‘Cochlear Implant Awareness Programme’ will be held in Faridabad on Sunday. Organized by the Department of Empowerment of Persons with Disabilities (Divyangjan), Ministry of Social Justice and Empowerment in association with Indian Red Cross Society and Sarvodaya Hospital & Research Centre, the event Swar Swagtam was…

Read more

NNWN / Rohtak, 2017-12-10

Good news for differently challenged as the Centre  will soon issue universal ID cards to persons with disabilities which will be valid throughout India. These cards will help them get benefits of various government schemes and reservation. So far, identity card issued by a state is…

Read more

श्वेता रश्मि/ New Delhi, 2018-05-14
 
स्पेशल चाइल्ड आपने बहुत बार सुना होगा अपने आसपास और मित्रों के बीच। इधर कुछ सालों में बॉलीवुड भी काफी एक्सपेरिमेंटल रहा है ऐसे संजीदा विषयों को लेकर जिसमें तारे ज़मीन पर, पा और दुसरी फिल्में रही जिनमें बच्चों के विकास से जुड़े विषयों को बड़ी…

Read more

NNWN/ Mumbai, 2018-01-21

A differently challenged has sought an online support to make all the restaurants disabled friendly. Virali Modi who is wheelchair bound, was denied entry in a restaurant owner on the ground that the restaurant would not be suitable for someone like him.
At the age of 13,…

Read more

NNWN/ Mumbai, 2017-12-10

A 26 year old wheelchair bound woman has urged people to sign her petition through change.org demanding that all the restaurants be made accessible to differently challenged. Virali Modi in her petition narrated people's apathy towards the differently challenged in the country.
Modi said,"I felt helpless,…

Read more

NNWN/ New Delhi, 2018-0-10

It was a proud moment for these wheelchair bound Indian Cricket team when they beat their Bangladesh counterpart by 10 runs in the final match on Monday. With this, the Indian team beat Bangladesh in three-matches Wheelchair Cricket Series 2018 by 2-0 held at University of Dhaka…

Read more

Neelam Jeena/ New Delhi, 2017-12-24
 
The National Platform for the Rights of the Disabled (NPRD) condemns the utter insensitivity displayed by the Delhi Development Authority in demolishing a hostel housing visually impaired students at Janakpuri, Delhi. This thoughtless and callous action on the part of the DDA has left around 25…

Read more

NNWN/ Mumbai, 2017-12-10

A 26 year old wheelchair bound woman has urged people to sign her petition through change.org demanding that all the restaurants be made accessible to differently challenged. Virali Modi in her petition narrated people's apathy towards the differently challenged in the country.
Modi said,"I felt helpless,…

Read more